कन्या छात्रावास में लाठी- डंडे से लैस होकर ग्रामीण क्वारेंटाइन सेंटर का कर रहे विरोध- प्रदर्शन

0


चंद्रिका कुशवाहा, पोड़ी मोड़-प्रतापपुर।बलरामपुर जिले के रनहत प्री मैट्रिक छात्रावास को क्वारेंटाइन सेंटर बनाने का शासन द्वारा चयनित किया गया है जिसमें शिक्षकों एवं अन्य कर्मचारियों का भी ड्यूटी लगा दिया गया और वे अपना ड्यूटी भी कर रहे हैं जिसकी भनक जैसे ही ग्रामीणों को लगी कन्या छात्रावास के पास पूरे ग्रामीण लाठी डंडे से लैस होकर भवन के सामने प्रशासन के खिलाफ जबरदस्त विरोध प्रदर्शन एवं नारेबाजी कर रहे हैं।
ग्रामीणों ने कहा यहां किसी भी स्थिति में कोरेंटाइन सेंटर ग्रामीणों के लिहाज से सुरक्षित नहीं है क्योंकि भवन गांव के बीचों- बीच है। किसी भी स्थिति में क्वारेंटाइन सेंटर यहां नहीं बनने देगें उन्होंने चेतावनी देते हुए कहा कि शासन-प्रशासन हमारे विरोध के बावजूद भी सेंटर बनाता है तो उसकी सम्पूर्ण जिम्मेदारी प्रशासन की होगी।ग्रामीणों ने यह भी कहा कि प्रशासन हमारे ऊपर सदैव कार्रवाई करने की धमकी देती है लेकिन हम धमकियों से डरने वाले नहीं है।यहां हम किसी कीमत पर मजदूरों को रुकने नहीं देंगे।

“शिक्षक देव सिंह के ड्यूटी से ग्रामीण हैं भयभीत”

प्री मैट्रिक कन्या छात्रावास में एक शिक्षक देव सिंह जो जजावल का रहने वाला है उसे भी यहीं ड्यूटी लगा दिया गया है जिससे पूरे ग्रामीण और ज्यादा भयभीत हो गए हैं।

“ग्रामीण अभी भी डटे हुए हैं छात्रावास में”

ग्रामीण अभी भी छात्रावास के पास डटे हुए हैं यहां किसी भी हाल में कोरेंटाइन सेंटर नहीं बनने देने की जिद पर अड़े हुए हैं। हमारा गांव अभी सुरक्षित है यहां शासन के द्वारा बाहरी लोगों को लाकर रखना हमारे जीवन के साथ खिलवाड़ करने जैसा है। शासन की इस रवैया से ग्रामीण काफी आक्रोशित हैं।

“छात्रावास में पेयजल सहित अन्य कई समस्याएं’

कन्या छात्रावास में पेयजल की भी भारी किल्लत है साथ ही यहां घना घना बस्ती भी है। ग्रामीणों ने बताया कि यहां सभी लॉक डाउन का पालन कर रहे हैं फिर भी हमारे गांव को क्वारेंटाइन सेंटर के लिए क्यों चुना हमारे समझ से परे है।
वीडियो देखें

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here