अनुराग सिंह देव का स्वास्थ्य मंत्री टी एस सिंह देव पर बड़ा हमला…. समाचार पत्रों मे भतीजे के द्वारा अस्पताल की कमान संभालने की खबरो पर कहा कि “रातों रात कैसे किसी गैर सरकारी व्यक्ति के द्वारा व्यवस्था बदली जा सकती है”

0

छत्तीसगढ़ स्वास्थ्य विभाग के कप्तान अपने घरेलू पिच पर ऐसी खेल भावना दिखाएंगे ऐसी उम्मीद नहीं थी-अनुराग

कोरोना से निपटने आर्थिक स्वेतपत्र जारी करे सरकार

अम्बिकापुर- छत्तीसगढ़ भाजपा के प्रदेश मंत्री अनुराग सिंह देव ने स्वास्थ विभाग की लचर कार्यप्रणाली को लेकर ट्विटर व एक विज्ञप्ति के माध्यम से भूपेश बघेल सरकार व स्वास्थ्य मंत्री टी एस सिंह देव पर बड़ा हमला बोला है।अनुराग ने टी एस सिंह देव के समाज सेवियों से अस्पताल में भर्ती कोविड मरीजों को भोजन कराने सहयोग के आह्वान को काफी दुर्भाग्य जनक बताया है और सरकार से पूछा है कि क्या छत्तीसगढ़ सरकार कोविड-19 के मरीजों को भोजन उपलब्ध कराने में भी सक्षम नहीं है।अगर ऐसा है तो सरकार कोरोना से निपटने राज्य की स्वास्थ्य सेवाओं और आर्थिक प्रबंधन पर स्वेतपत्र जारी करे।

अनुराग ने स्वास्थ्य मंत्री टी एस सिंह देव पर बड़ा तंज कसते हुए कहा कि आप राज्य के स्वास्थ सेवाओ के कप्तान हैं ,अपने घरेलू पिच पर ही ऐसी खेल भावना दिखाएंगे उम्मीद नहीं थी।अंबिकापुर मेडिकल कॉलेज अस्पताल के पीछे बने कोविड अस्पताल में गंदगी, अव्यवस्था व एक ही दिन में व्यवस्था दुरुस्त हो जाने को लेकर अनुराग ने कहा कि रातों रात कैसे किसी गैर सरकारी व्यक्ति के द्वारा व्यवस्था बदली जा सकती है ! उक्त बातें टी एस सिंहदेव के भतीजे जिला पंचायत सदस्य आदित्येश्वर के अस्पताल की कमान संभालने की समाचार पत्र में प्रकाशित खबर पर प्रश्न खड़ा करते हुए कही ! अस्पताल में भर्ती पीड़ित मरीज इतने दिनों घोर कष्ट में थे आखिर किसकी वजह से?यदि किसी गैर सरकारी व्यक्ति के हाथों में जादू की छड़ी थी तो पहले क्यों नहीं घुमाई गई।क्या कोविड वार्ड की व्यवस्था स्वयं सेवा से दूर की जा रही इसमें सरकारी मद का कोई योगदान नहीं है।

भाजपा प्रदेश मंत्री अनुराग ने आगे कहा कि अस्पताल में मरीजो का बुरा हाल है औऱ लोग अपनी राजनीति चमकाने में लगे हैं।मेडिकल कॉलेज से जीवन दीप के कर्मचारियों को निकाला जा रहा है।भोजन ,दवाई के टेंडरों में दादागिरी की जा रही है।अस्पताल में डॉ, नर्स के साथ मारपीट की जा रही है और जब व्यवस्था चरमरा रही है तो इसका खामियाजा सरगुजा संभाग के मरीजो को भुगतना पड़ रहा है।रातों रात जादू की छड़ी घुमाकर अस्पताल की व्यवस्था दुरुस्त होने का ढोल पिटा जा रहा है।
अनुराग ने कहा कि ये राजनीति में प्रोजेक्ट होने या राजनीति चमकाने का समय नहीं है,गंभीर महामारी से निपटने गंभीरता दिखाने का है।यदि आज एक दिन के अंतराल में गैर सरकारी व्यक्ति विशेष के प्रयास से अस्पताल की व्यवस्था दुरुस्थ होने का दावा मीडिया में किया गया है तो यह सुचारू भी रहनी चाहिए ।चार दिन की चांदनी के बाद 5 वें दिन से अंधेरी रात ना हो इसका ख्याल रखा जाए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here