स्कूली बालिकाओं को साइकिल मिलने पर शिक्षा स्तर में हुई है बढ़ोतरी.. हाईस्कूल में 100 छात्राओं को निःशुल्क साईकिलों का हुआ वितरण.. ग्रामीणों की मांग पर स्कूल में दस लाख रुपये की तत्काल मिली स्वीकृति..

0

पोड़ी मोड़-प्रतापपुर।ऐसा कहा जाता है कि एक बालक शिक्षित होता है तो एक व्यक्ति शिक्षित होता है लेकिन एक बालिका शिक्षित होती है तो पूरा परिवार शिक्षित होता है। वहीं बालिकाओं की शिक्षा को लेकर वर्तमान भूपेष सरकार सजग है, और ब्लैक बोर्ड से की–बोर्ड तक की योजनाएॅ शासकीय अनुदान प्राप्त स्कूलों में लागू की जावेगी।भूपेष बधेल की सरकार बनने के बाद उन्होंने छ.ग. में शिक्षा नीति और शिक्षा व्यवस्था को लेकर अनेकों महत्वूपर्ण निर्णय लिये हैं, जो जल्द ही धरातल पर दिखेंगे। उक्त बातें जिला मंत्री प्रतिनिधि कुमार सिंह देव ने हाईस्कूल डांड़करवां एंव हाईस्कूल गोविंदपुर में मुख्य अतिथि के रूप में बालिकाओं को सरस्वती सायकिल योजनाओं के तहत संबोधित करते हुये कही।उन्होंने कहा कि सरस्वती सायकल योजना के तहत सरस्वती रूपी ज्ञान के मंदिर तक पहुंचने के लिए बालिकाओं को निःशुल्क सायकिल वितरण किया जा रहा है ताकि कन्याओं में पढ़ाई में रुचि आए जिसे साइकिल से नियमित विद्यालय जा सके।यह योजना स्कूल से दूर रहकर पढ़ाई करने वाले छात्राओं के लिए बहुत बड़ी उपलब्धि है।
वहीं विशिष्ट अतिथि के रुप में उपस्थित जिलाध्यक्ष प्रतिनिधि शिवभजन सिंह मराबी ने कहा कि अवागमन संसाधन के अभाव में बालिकाओं का शिक्षा स्तर मीडिल तक ही सीमित था। सरस्वती योजना के तहत स्कूली बालिकाओं को साइकिल मिलने पर बालिकाओं की शिक्षा स्तर में बहुत विस्तार हुआ है।वर्तमान में बालक और बालिका समान हो गएं हैं। बालकों की शिक्षा जितनी जरूरी है, उतनी ही बालिकाओं की शिक्षा जरूरी है। देश के हर क्षेत्र में बालिकाएं भी बालकों से कंधा मिलकार चल रही हैं। ऐसे समय में बालिकाओं के शिक्षा के लिए सरस्वती साइकिल योजना मील का पत्थर साबित हुई है। इससे बालिकाओं की शिक्षा के बीच स्कूल की दूरी और अवागमन संसाधनों की कमी संबंधित बाधा नहीं आ रही है। अब हर वर्ग की बालिकाएं हायर सेकेंडरी से लेकर ग्रेजुएट और पोस्ट ग्रेजुएट तक पढ़ाई कर शहर, राज्य व देश-दुनियां में नाम रोशन कर रहीं है।

दो स्कूलों में 100 साइकिलों का हुआ वितरण, अतिथियों द्वारा बालिकाओं की उज्ज्वल भविष्य की कामना की

इस दौरान हाईस्कूल गोविंदपुर में 52 व डांड़करवां में 48 साइकलों का वितरण किया गया। जिला मंत्री प्रतिनिधि कुमार सिंह देव एंव जिलाध्यक्ष प्रतिनिधि ने साइकिल प्राप्त करने वाली बालिकाओं की उज्जवल भविष्य की कामना करते हुए उन्हें खूब बढऩे और शहर व राज्य का नाम देश में रोशन करने की बात कही।

ग्रामीणों की मांग पर स्कूल में दस लाख रुपये की तत्काल मिली स्वीकृति

साइकिल वितरण के दौरान उपस्थित ग्रामीणों ने जिलाध्यक्ष प्रतिनिधि शिवभजन मराबी से स्कूल प्रांगण में समतलीकरण की मांग की जिसे गंभीरता से लेते हुए जिलाध्यक्ष प्रतिनिधि ने स्कूल शिक्षा मंत्री डॉ प्रेमसाय सिंह से मोबाइल से बात कर तत्काल दस लाख रुपए की स्वीकृति दिलाई।वहीं ग्रामीणों द्वारा एक मोहल्ला में विद्युतीकरण करण नहीं होने की समस्या बताई जिसे डी सूरजपुर से चर्चा कर तत्काल विद्युत कर्मचारियों को बुलाकर बिजली खम्बा लगाया जा रहा है।ग्रामीणों ने समस्या समाधान होने उपरांत उनके कार्य की सराहना करते हुए धन्यवाद दिया।
इसके पश्चात ग्राम पंचायत धोन्धा में नवीन अहाता निर्माण कार्य का फीता काटकर उद्घाटन किया।इस दौरान वरिष्ठ कांग्रेसी नेता बनवारी लाल गुप्ता,सेक्टर प्रभारी राम विकास पटेल, युवा नेता कुंदन मिश्रा,जान साय मराबी,जनपद सदस्य मानमती, देवीदयाल,डांड़ कारवां सरपंच रामा सिंह,अकबरी पटेल,सरपंच गोविंदपुर देवती,सीतल रजक, अनिल गुप्ता सहित अन्य जनप्रनिधि व ग्रामीण उपस्थित रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here