सूरजपुर का लाइवलीहुड काँलेज क्वारेंटाइन सेंटर बदहाल…. कोरोना जांच सहित अन्य मूलभूत सुविधाओं के लिए जूझ रहे प्रवासी

0

सूरजपुर कोरोना वायरस के खतरे को देखते हुए देश में जारी लॉकडाउन के दौरान प्रवासियों को काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है। प्रवासी मजदूरों को कोरोना संक्रमण के फैलाव को रोकने के लिए जारी गाइडलाइन के तहत घर जाने से पहले उन्हें क्वारेंटाइन सेंटर में भेजा जा रहा है जहां 14 दिन के लिए उन्हें क्वॉरेंटाइन किया जाना है।

इन सब के बीच सूरजपुर के पर्री स्थित लाइवलीहुड कालेज में बनाए गए क्वारेंटाइन सेंटर मे बदहाली की जानकारी मिल रही है कुछ प्रवासी मजदूरों ने नाम ना छापने की शर्त पर बताया की हाल में विभिन्न जगहों से आए प्रवासियों को एक साथ रखा गया है। क्वारेंटाइन सेंटर में रहने वाले लोग सेंटर के अंदर की बदहाल व्यवस्था एवं कई मूलभूत समस्याओं को लेकर जूझ रहे हैं। यहां प्रवासी मजदूरों को इतने पास पास रखा गया है कि यदि उन्हें कोरोना संक्रमण ना भी हो तो वे किसी कोरोना संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में आने से वे भी संक्रमित हो सकते हैं। इसके अलावा वहां के लेट्रिन बाथरूम की साफ सफाई नियमित नहीं की जाती जिससे लेट्रिन बाथरूम का पानी रूम में बहता रहता है।

मेडिकल जांच के लिए कहने पर ऊपर के आदेश का दिया गया हवाला

एक प्रवासी ने नाम न उजागर करने पर बताया कि इस सेंटर में आज तक उनकी स्वास्थ्य जांच नही की गयी है और ना ही उन लोगों का सैंपल संक्रमण की जांच के लिए लिया जा रहा है जिससे क्वॉरेंटाइन सेंटर के अंदर संक्रमण का खतरा पूरी तरह से मंडरा रहा है। उसने यह भी बताया कि नए लोगों को भी उन लोगों के साथ रखा जा रहा है जो कई दिनों से उस शिविर में रह रहे हैं जिसके कारण क्वॉरेंटाइन सेंटर में में रह रहे लोगों मे कोरोना वायरस के संक्रमण के खतरे के प्रति आशंका बढ़ रही है। प्रवासियों ने बताया की क्वॉरेंटाइन सेंटर के प्रभारी अधिकारियों से मेडिकल जांच के लिए बोलने पर उनके द्वारा कहा जाता है कि अभी पहले से हजारों जांच पेंडिंग है और ऊपर से आदेश है की तुम सबको बगैर मेडिकल जांच किए 14 दिन का क्वॉरेंटाइन पीरियड पूरा करके घर भेज दिया जाए।

इस संबंध में क्या कहते हैं सूरजपुर कलेक्टर

लाइवलीहुड कॉलेज क्वॉरेंटाइन सेंटर मे मेडिकल जांच एस ओ पी के आधार पर किया जाता है। क्वॉरेंटाइन सेंटर में रह रहे किसी प्रवासी मजदूर मे यदि कोरोना के लक्षण पाए जाते हैं तो उसका सैंपल जांच के लिए भेजा जाता है ।जहां तक सफाई व अन्य दिक्कतों की बात है मैं इसे दिखवाता हूं ।
रणबीर शर्मा
कलेक्टर सूरजपुर

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here