कोयला श्रमिक संगठनों का एक दिवसीय धरना प्रदर्शन.. केंद्र सरकार पर जम कर साधा निशाना.. सरकार द्वारा श्रम कानून में किये गए बदलाव के विरोध में कल से काली पट्टी लगा कर करेंगे काम

0

पोड़ी मोड़-प्रतापपुर।सुरजपुर जिले के कोयलांचल क्षेत्र भटगांव के महाप्रबंधक कार्यालय के सामने संयुक्त कोयला मजदूर संघ के द्वारा केंद्र सरकार के नीति कोल् ब्लॉक को निजी हाथ मे देने,कमर्शियल माइनिंग ,सीएम पीडी ऑय को सीऑयएल से पृथक एवं अन्य मांगों को लेकर धरना व विरोध प्रदर्शन किया गया। अपनी मांगो को रखते हुए चारो यूनियन ने संयुक्त रूप से मुख्यप्रबंधक को ज्ञापन सौंपा।

संयुक्त संगठन में एच्०एम०एस, बी०एम ०एस,एटक एवं सीटू ने केंद्र सरकार की नीतियों के खिलाफ मोर्चा खोल और चरणबद्ध ढंग से आगे बढ़ने का आह्वान किया ,श्रमिक नेताओं का विरोध प्रदर्शन कोल् ब्लॉक को 51% निजीकरण करने एवं कंपनी को पृथक करने का है, श्रमिक नेताओं ने केंद्र के नीति का विरोध करते हुए कहा की केंद्र सरकार कोरोना जैसी महामारी के समय व लॉक डाउन के समय सार्वजनिक क्षेत्र को लाफ़कारी कंपनी कॉर्पोरेट घरानों को सोपने का कार्य कर रही है और कहा कि जैसे केंद्र सरकार रेल को निजीकरण कर रही उसी राह पे सार्वजिक क्षेत्र के महारत्न कंपनी cil को भी निजी हाथों में देने की दिशा में बढ़ रही है जिससे कोयलाक्षेत्र में भय का मौहाल बना हुआ है परंतु हम कोयला मजदूर इस विरोध को चरणबद्ध तरीके से बढ़ाते हुए केंद्र सरकार की नीति जो मज़दूर विरोधी है एवं उनकी मौलिक अधिकारों का हनन करती इस नीति को सफल होने नही देंगे एवं 11 जून को काल दिवस मनाने का आह्वान किया है।

इस दौरान संयुक्त प्रदर्शन में एच०एम०एस से तेज़ बहादुर सिंह, सतीश तीवारी,सूर्यबली सिंह,जगन्नाथ पांडेय,नीरू श्रीवास्ताव,दिलीप मंडल,मनीष सिंह ,(टिंकू)
बी०एम०एस से संजय सिंह,श्रीराम सिंह,दामोदर दुबे,
एटक से मनोज पांडेय,उमेश सिंह,असरफी लाल गुप्ता, सीटू से अजय शर्मा ,एच०एल यादव सहित अन्य लोग मौजूद रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here