सरकारो के खोखले दावों को आईना दिखाता बलरामपुर जिले का यह गांव… आजादी के 73 सालों के बाद भी बुनियादी सुविधाओं से अछूता है अब तक

0

बलरामपुर : विकास के दावे का दम घुटते देखना हो तो बलरामपुर जिला मुख्यालय से मात्र 70 किमी दूर शंकरगढ़ विकासखंड चले आइए। यहां लडुआ सारपानी गांव है, जहां के लोग तरक्की की राह देखते-देखते थक चुके हैं। विकास यहाँ दम तोड़ता हुआ नजर आता है क्योंकि सारपानी गाँव के लोगों को आजतक बिजली-पानी तक नसीब नहीं हो सका।

शंकरगढ़ विकासखंड से महज 10 किलोमीटर की दूरी पर बसा लडुआ का सारपानी गांव यहां विकास के दावों की धज्जियां उड़ती है.. गांव में 20से ज्यादा घर है लेकिन न तो पेयजल की कोई व्यवस्था है और ना ही आज तक यहां बिजली पहुंची है ..अंधेरे में रहकर यहां के ग्रामीण ढोढ़ी का गंदा पानी पीकर जीवन यापन कर रहे हैं। आज के इस युग में रोटी कपड़ा और मकान के साथ-साथ बिजली और पानी भी कितना आवश्यक है यह आप से बेहतर कोई नहीं जानता लेकिन सारपानी गांव में न तो बिजली है न पानी.. कुल मिलाकर यह कहा जाए कि विकास का यहां गला घोट दिया गया है, फिर भी ग्रामीण आज भी विकास की बाट जोह रहे हैं।
ढोढ़ी का गंदा पानी पीकर ग्रामवासी बीमार तो हो ही रहे हैं.. वहीं अंधेरे में यहां के मासूमों की शिक्षा भी चौपट हो रही हैं, स्मार्ट गांव की बात करने वाले जिम्मेदार इस खबर को देखने के बाद चुप हो जाएंगे क्योंकि आधुनिकता के इस युग में यहां के लोग मोबाइल का उपयोग तक नहीं करते। परेशानी यहीं खत्म नहीं होती उज्जवला गैस योजना का लाभ भी इस गांव में ग्रामीणों को नहीं मिल पाया है.. सारपानी गांव के लोगों पर दोहरी मार तो तब पड़ती है जब ढोढ़ी का भी पानी गर्मी के दिनों में सूख जाता है ऐसे में यहां के ग्रामीण 3 से 4 किलोमीटर दूर नदी का पानी लेने जाते हैं और बाकी दिनों में वे पहाड़ों के नीचे बने ढोढ़ी का पानी पीकर जीवन यापन कर रहे हैं।
ग्रामीण कई बार जिम्मेदारों से बिजली और पानी को लेकर गुहार लगाते रहे हैं ..लेकिन आज कल और परसों का सिर्फ आश्वासन ही इन ग्रामीणों को मिला है.. अब ग्रामीण खुद को ठगा सा महसूस कर रहे हैं। अब पेयजल की समस्या पर जनपद पंचायत शंकरगढ़ के सीईओ ने कहा है कि जल्द ही यहां कूप का खनन कराया जाएगा। मामले पर सत्ता दल के विधायक ने कहा है कि यहां तत्काल इस समस्या को दूर किया जाएगा
अब हम उम्मीद करते हैं ग्रामीणों की यह समस्या जल्द समाप्त हो जाएगी पानी के साथ साथ बिजली से यह गाँव रोशन होगा ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here