पतञ्जलि योग समिति एवं आयुष विभाग के सँयुक्त तत्वावधान में एसईसीएल भटगांव चिकित्सालय के समस्त चिकित्सक एवं स्टाफ को “योग एवं आयुर्वेद से प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने हुआ जागरूकता कार्यक्रम

0

पोड़ी मोड़-प्रतापपुर।सूरजपुर जिला प्रशासन के निर्देश एवं जिला आयुर्वेद अधिकारी डॉ आरके द्विवेदी के मार्गदर्शन में आयुष विभाग भैयाथान के नोडल डॉ एके शर्मा एवं पतञ्जलि योग समिति के जिला प्रभारी रामप्रताप राजवाड़े के द्वारा एसईसीएल भटगांव चिकित्सालय के समस्त चिकित्सक एवं स्टाफ को योग एवं आयुर्वेद रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के उपाय बताए गए।
जिसमें आयुष विभाग के डॉ एके शर्मा ने घर पर काढ़ा बनाने की विधि त्रिकटु चूर्ण,अश्वगंधा पावडर की उपयोगिता एवं नियमित सेवन करने ,गर्म पानी पीने, सन्तुलित आहार लेने सब्जी में हल्दी, जीरा, धनिया,अदरक,गर्म मसाले का उपयोग रात में दूध के साथ हल्दी मिलाकर पीने की सलाह दी गई।
पतञ्जलि योग समिति के जिला प्रभारी राम प्रताप राजवाड़े ने बताया किं कोरोना के इस जंग से जितने के लिए सावधानियों के साथ रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने के लिए प्रतिदिन सुबह सुबह दश बारह योगासन त्रिययक ताड़ासन, त्रिकोड़ आसन, कोड़ा सन, पादासन, मण्डूक आसन, गौमुख आसन, वक्रासन एवं सूर्यनमस्का अपने सामर्थ्य अनुसार एवं भरस्त्रिका, कपालभाति, अनुलोमविलोम, भ्रामरी, उदगीत, अवश्य करना चाहिए।जिन्हें उच्च रक्तचाप हो तो शीतली शीतकारी प्राणायाम करना चाहिए।करने की विधि एवं लाभ के बारे में विस्तृत जानकारी दी गई।योगासनों से फिजिकल फिटनेश बनी रहती है प्राणायाम की अनंत महिमा है इससे हमारी रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ने के साथ पाँचों प्राण पुष्ठ हो जाते हैं पंच कर्मेन्द्रियां, पंच ज्ञानेन्द्रियाँ को पुष्ठ करता है।पतञ्जलि योग शिक्षक श्रीमती काजल साहू द्वारा योगासन सूर्यनमस्कार का डेमो किया गया।कार्यक्रम के दौरान त्रिकटु चूर्ण ,पम्लेट, और काढ़ा बनाकर को पिलाया गया।एवं सबने मिलकर योगासन किया।
इस कार्यक्रम को सफल बनाने के लिए डॉक्टर मीना वैष्णव मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ0वएस सरकार, डॉ0 यू एस बैठा, डॉ0 आर के सिंह ,डॉ0विवेक शर्मा, नीरू श्रीवास्तव, मंगली तिर्की, डीके डांगर, कृष्णा कांत पटेल का भरपूर सहयोग रहा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here