पटकुरा जंगल में पहुंचा 11 हाथियों का दल -ग्रामीणों में दहशत

0


लखनपुर- सुरूर वनांचल के ग्राम पटकुरा ढोढा केसरा जंगलों में एक बार फिर 11 जंगली हाथियों के दल ने दस्तक दिया है बीते शनिवार की रात धरमजयगढ़ वन मंडल की ओर से पहुंचे हाथियों के काफिले ने पटकुरा जंगल के कक्ष क्रमांक 2207 एवं 2208 में डेरा जमाए हुए हैं पहुंचे हाथियों के दल के कारण क्षेत्रवासी दहशत के साए में जान माल की हिफाजत करते हुए रतजगा करने पर मजबूर हैं एहतियातन वन अमला पूरी सजगता के साथ प्रभावित क्षेत्रों में फेसिंग तार इत्यादि संसाधनों का उपयोग करते हुए जंगली हाथियों से सावधानी बरतने आसपास के गांवों में मुनादी करा सावधानी बरतते हुए सचेत रहने अपील किया है जंगली हाथियों से छेड़खानी नहीं करने सलाह दिया है वन विभाग ने जमीनी अमला तैनात कर गजदलके ऊपर पैनी नजर रखे हुए हैं बाद इसके बीते रविवार को 11 दलिए हाथियों के झुंड ने उत्पात मचाते हुए बसंत राम नेपाल यादव साजू बरगाह नई हर साए मझवार के खेतों में लगे गर्मी धान फसल को रौंद कर नुकसान पहुंचाया है लिहाजा आसपास के ग्रामीण पहुंचे जंगली हाथियों से भयभीत अपने आप को असुरक्षित महसूस करने लगे हैं ग्राम पटकुरा ढोढाकेसरा घंटोंन मादी महुआ सहित आसपास के गांव में हाथियों को लेकर लोगों में दहशत का माहौल बना हुआ है वन विभाग के ऊपर लापरवाही बरतने का इल्जाम भी लगाया जा रहा है । ग्रामीणों का कहना है कि विगत 10 वर्षों में कई आला अधिकारी रेंजर अतिरिक्त प्रभारी प्रशिक्षु वन अधिकारी लखनपुर रेंज में पदस्थ रहे परंतु इन जंगली हाथियों से हिफाजत करने उपयुक्त एवं कारगर व्यवस्था नहीं की गई बुनियादी तौर पर महज खानापूर्ति करते हुए हम ग्रामीणों के साथ छल किया गया इतना ही नहीं इमारती लकड़ी तस्करी अवैध कटाई जंगल बर्बादी के लिए विभाग को जिम्मेदार ठहराया है फिलहाल गर्मी धान फसल को नुकसान पहुंचाने के बाद जंगली हाथियों ने कोई घर मकान को क्षति नहीं पहुंचाया है खबर लिखे जाने तक जंगली हाथियों ने पटकुरा जंगल में अपना डेरा जमाया हुआ है। इस संबंध में रेंजर श्रीकांत सोनी ने बताया कि क्षेत्र में 11 हाथियों का दल आने के कारण तेंदूपत्ता तोड़ने वाले ग्रामीणों को तथा आसपास के रहवासियों को सचेत करते हुए जंगलों के तरफ नहीं जाने समझाइश दी गई है वन कर्मी पहुंचे हाथियों पर पैनी नजर रखे हुए हैं

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here